सकारात्मक सोच कैसे लाये | How To Think Positive in Hindi

सकारात्मक सोच कैसे लाये, How To Think Positive in Hindi

सकारात्मक सोच कैसे लाये - How to think positive in hindi: लाइफ में आगे बढ़़ने के लिए सक्सेस पाने के लिए सकारात्मक सोच एक अहम भूमिका निभाति है। आज तक जितने भी सारे successful लोग बने है सब इस सोच की वजह से ही है। किसी भी काम के लिए मन में सकारात्मकता हो तो वो काम, वो लक्ष्य कभी भी हासिल नहीं की जा सकती। कई बार शायद आपके साथ ऐसा हुआ होगा काम मुश्किल होने के बावजूद आपने हार नहीं मानी और आपको लगा की आप कर लेंगे और आखिर में वो काम कम्पलिट भी कर लियाा, ये है पॉजिटिव सोच की पॉवर। 

जो बन्दा पॉजिटिव रहेगा हर सिचुएशन में वो बड़ी से बड़ी बाधाएं भी पार करने में सक्षम होगा। हमे हर सिचुएशन के साथ ऐसे ही deal करना चाहिए पॉजिटिव सोच के साथ, लेकिन आस आस के नकारात्मक सिचुएशन्स की वजह कई बार हम negative हो जाते है और अपने अंदर पॉजिटिव सोच को नहीं ला पाते। तो इसलिए आज के आर्टिकल में हम आपको जिंदगी जीने का सही तरीका बताएंगे जिससे आप आपने अंदर सकारात्मक सोच फिरसे ला सकेंगे।

उससे पहले हम सकारात्मक सोच के फाइदो के बारे में विस्तार से जानेंगे जो जान ना अति अवश्यक है। माफी चाहूंगा पहले आर्टिकल का एक छोटा सा Overview देख लेते है उसके बाद आगे चर्चा करेंगे। 

सकारात्मक सोच क्यों जरूरी है? 

1. सकारात्मक सोच रखने वाले व्यक्ति चाहे कोई भी सिचुएशन हो खुदको संभालने सक्षम होते है। 

2. सकारात्मक व्यक्ति से मानशिक और शारीरिक बीमारिया काफि हद तक दूर ही रहता है। 

3. पॉजिटिव इंसान के अंदर सहनशिलता बहुत ज्यदा होती है। वह लोग बुरी से बुरी सिचुएशन में भी डटे रहते है। 

4. पॉजिटिव इंसान के अंदर कभी हर ना मानने वाली जस्बा होती है, जो की जीवन में आगे बढ़ने के लिए बहुत जरूरी है।

5. जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए कामयाब होने के लिए सकारात्मक सोच एक अहम भूमिका निभाता है। 

सकारात्मक सोच कैसे लाये : How to think positive in hindi

तो दोस्त अगर आस पास के सिचुएशन्स की वजह आप में पॉजिटिविटी की कमी हो गयी है और आप अपना इस स्थिति को बदलना चाहते है, आपने अंदर सकारात्मक सोच लाना चाहते है तो इसे अंत तक जरूर पढ़ीयेगा। 

1. हमेशा खुश रहे:

सकारात्मक सोच लाने के लिए सबसे पहले इंसान को अंदर से खुश रहना बहुत जरूरी है। बात बड़ी सिंपल सी है, अगर इंसान अंदर से ना ख़ुश रहेगा तो उसके अंदर सकारात्मकता कहां से आएगी! Happiness एक ऐसा चीज़ है ना जो आदमी अंदर नकारात्मकता को घुसने नहीं देता। तो जितना हो सके खुश रहने की कोशीश करे। अगर आपको लग रहा है की आरे हम खुश कैसे रहे भाईया जबकि जिंदगी तो Same ही चल रही है, तो ऐसे में आपको एक बात बोलना चाहूंगा, आप ऐसे में छोटी छोटी चीजों में खुशी ढूंढने की कोशीश करे ये दुनिया और हसीन लगने लगेगी और कारात्मकता आपसे चार कदम दूर ही रहेगा।

2. आत्म-सम्मान रखे: 

सकारात्मक सोच लाने के लिए अपने अंदर आत्म-सम्मान के आभाव को उभर ना चाहिए। अगर आप खुद की कद्र नहीं करोगे कॉन्फिडेंस कम रहेगा तो आपके अंदर पॉजिटिव थिंकिंग का निवास हो ही नहीं सकता है। तो आप जैसे भी हो जो भी हो खुद को एक्सेप्ट करो किसी से तुलना मत करो। और ऐसे कामों को मत करो जिससे बाद में आपके आत्म सम्मान को ठेस पहुँचे। 

3. खुदको माफ करना सीखें:

कई बार हम आपने पिछले किये कांडों की वजह से खुदको कोसते रहते है और जिसके चलते Negative हो जाते है, कारात्मकता के चपेट में आ जाते है; और आपने अंदर के पॉजिटिविटी को मार देते है। जबकि हमे जरूरत होती है उस गलती को एक्सेप्ट करने की और उससे सिख लेके आगे बढ़ने की, लेकिन ऐसा बहुत कम लोग ही कर पाते है। देखिए Past के बारे में सोच सोच कर खुदको और Negative ना बनाए, खुदको माफ करे ओर जो हुआ उसे एक्सेप्ट करे, सिख लें आगे बड़े। हम इंसान है गलती हमसे होगी बस चाहिए तो हर गलती को सिख के साथ कॉन्वर्ट करने की। 

4. पॉजिटिव चीजों पर फोकस करे:

देखिये ऐसा संभव ही नहीं हमेशा आपके साथ अच्छा ही होगा। अगर सब कुछ अच्छा जा रहा फिर भी आगले पल कुछ भी हो सकता है, लेकिन हमे ये मंजूर ही नहीं होता इसलिए कई बार हम बहुत अपसेट होकर आपने अंदर Negativity पाल लेते है। 

अगर मानलो दिन के शुरूवात में आपके साथ एक छोटा सा बुरा हादसा होता है तो पुरा दिन व्यर्थ हो गया क्या? नहीं ना, 24 घंटे के का कुछ चंद टाइम बुरा गया मतलब ये नहीं की दिन ही खाराब है। दिन खाराब नहीं है दिन को आप खरब कर रहे उस छोटी सी बात को सोच सोच कर। 

ऐसे स्थिति से बचने के लिए आप बुरी नकारात्मक चीजों से हटाकर पॉजिटिवस् पे फोकस करो। मानलो आपको किसी ने जमकर Criticise किया तो ऐसे में Negative होने बजाय ये सोचो **यार इसकी Criticism की वजह से मेरे अंदर की कमियों के बारे में पता तो चला। और अगर ऐसा कुछ होता है जिसके अंदर से आप पॉजिटिव प्वाइंट्स को नहीं निकाल पा रहे, तो ऐसे में सोच को डाइवर्ट कीजिए दूसरे अच्छे यादों के साथ। 

5. प्रेरणा लेते रहे:

आपने अंदर सकारात्मक सोच को जगाने के लिए या बनाए रखने के लिए मोटीवेशन की बहुत जरूरत होती है। जब आप मोटीवेट रहते हो तब अंदर ही अंदर सकारात्मक सोच से भरा हुआ महसूस करते है, इसलिए आपने आपको मोटीवेशन की डोजेस देते रहे। 

अब इसके लिए आप सक्सेसफूल लोगों की Biographies पढ़ सकते है, क्योंकि जब आप सक्सेसफूल लोगों के बारे में पढ़ोगे तो आपको पता चलेगा कितने प्रॉब्लम्स से उठकर वो लोग आज सक्सेसफूल बने है। और ultimately ये सब चीज़े सकारात्मक सोच लाने में, जिंदगी में आगे बढ़ने में बहुत मदद करेगी।

सकारात्मक सोच कैसे बनाए Explained By Shree Krishna

अन्य पढ़ें –

• लोगों का दिल कैसे जीते
• भोलापन कैसे दूर करे
• अपने इमोशन्स को कैसे कण्ट्रोल करे

तो दोस्तों ये थी आपने अंदर सकारात्मक सोच लाने के कुछ जबरदस्त टिप्स। आप ऊपर बताए गये टिप्स पर अमल करिये सकारात्मक सोच आपने आप आ जाएगी। अगर आपको आज का यह आर्टिकल अच्छा लगा तो आपने दोस्तों के साथ शेयर करके उनकी भी मदद कीजिए। ऐसे ही और helpful आर्टिकल्स प्राप्त करने के लिए हमे सब्स्क्राइब करे, पास में एक घंटी का आइकन दिख रहा है वहां क्लिक करे। 

Fontes de letras para copiar

और हां आप चाहे तो हमारे ऑफिसियल @फेसबुक पेज पर जुड़ सकते हैं डेली मोटीवेशनल थोटस के लिए इसके अलावा वहां आपको कई लेटेस्ट अपडेट्स भी मिल जाया करेगा। 

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box